Price Fix or

Negotiation for New

Shop in Hindi

मित्रों, आज की पाँस्ट में आप सभी का स्वागत हैं. Tital  पढ़कर आप समझ ही गयें होगें कि आपको क्या जानकारी मिलने वाली हैं. दरसल, सभी  New shop keeper का यही सवाल होता हैं कि अपने Product का दाम Fix रखें या फिर मोल-भाव ही ठीक हैं.
तो चलिए हम कुछ मुख्य बिदुंओं के तहत यह जानने की कोशिश करेगें कि कौन से नियम इस्तेमाल करके अच्छी इनकम की जा सकती हैं.

पहले जानते

हैं Fix रेट के बारे में

पहचान

Fix रेट और सहीं रेट में Product बेचने वाले Shop keeper के रूप में आपकी पहचान बनती हैं. जो Quality product या अच्छा सामान चाहते हैं वो आपके पास ही आयेगें.
market में आपकी imase मोल-भाव वाले Shop keeper से ज्यादा बेहतर होती है.
जब आप Fix रेट में काम करते हैं तो आप अच्छे ब्राण्ड़ के Product Manage करते हैं क्योकि अच्छे ब्राण्ड़ में margin कम रहता हैं बजाय लाँकल कम्पनी के. और जब आप कम Margin में काम करते हैं तो लोग आपसे मोल-भाव नहीं करतें हैं.

कम तनाव

Barganing में जो आपका वक्त खराब होता हैं उससे आपको मुक्ति मिलती हैं. आप मोल-भाव करके वस्तु बेचने वाले से कम तनाव में रहते हैं.

ग्राहको को संतुष्टी

Fix रेट में sale करने का आनंद तब ज्यादा आता हैं. जब product या वैरायटी का रैंज ज्यादा हो. लोगों की तलाशती आँखों को जब आपका विशाल वैरायटी का रैंज संतुष्ट करता हैं तो इससे भी कुछ हद तक मोल-भाव को कंट्रोल करने में तथा Customer को Attract करने में मदद मिलती हैं.

ग्राहक की पुन: वापसी

Customer भी वहीं, Product भी वहीं लेकिन दूसरा Shop keeper उसका दाम अधिक बताता हैं. त ग्राहक को आपकी दुकान के सामान का Price याद आता हैं. तब वह उस शाँप कीपर को आपकी दुकान पर बतायें गयें price पर सामान देने की बात करता हैं. जब Shop keeper ग्राहक के बताये दाम पर सामान नहीं देता हैं तो फिर वह ग्राहक आपकी शाँप पर पुनलौटकर आता हैं. आपके साथ ऐसा जरूर हुआ होगा.

अब जानते है मोल

Uभाव के परिणाम

ग्राहक टुटने का डर

जब आप मोल-भाव करके किसी ग्राहक को अधिक दाम बताकर अपने Margin लेवल तक सामान बेच देतें हैं. लेकिन जब वह ग्राहक किसी दूसरी शाँप पर जाकर जिज्ञासा वश उस Product का दाम पूँछ लेता हैं. अगर उस Shop keeper ने उस वस्तु का दाम कम बता दिया तो वह ग्राहक खुद को ठगा महसूस करेगा. ऐसे में वह चुप भी नहीं बैठेगा. वह दुसरे लोगों को अपने ठगे जाने की बात कहेगा और आपके ग्राहक तौडे़गा.

अधिक तनाव

आप कम margin लेकर कीमत बताते हैं. ग्राहक को महगा लगता हैं. वो बिना खरीदें आपका टाइम West करके चला जाता हैं. आपको गुस्सा भी आता हैं लेकिन आप चुप रहते हैं. ऐसे में आपको तनाव से गुजरना पड़ सकता हैं.
व्यापार के तनाव का असर घर तक पहुँच जाता हैं. छोटी-छोटी बातो में तू-तू, मैं-मैं की नौबत आ जाती हैं.

साख गिरने का डर         

मोल-भाव करने वाले Shop में दिन भर में न जाने कितने Customer आते रहतें हैं.
मोल-भाव की कीमत की वजह से कई बार सस्ते Product को Manage करना पड़ता हैं. खोजना पड़ता हैं ताकि Margin सही निकाला जा सकें. लेकिन Quality गिरने से Business की साख गिरने का डर बना रहता हैं. जब लोग चर्चा करते हैं तो उनके बीच में फाइनल Decision में होता हैं कि ‘‘अरे उसके दुकान में अगर खरीददारी करने जाये तो याद रखना मोलभाव ढ़ग से करना या आधी कीमत में मांगने की कोशिश करना वरना चूना लग जायेगा.”

गलत Images बनना

मोल-भाव वाली Images के कारण कई बार ब्राण्डेड़ प्रोडक्ट कम margin लेकर भी Sale करना मुश्किल हो जाता हैं. जब Shop keeper ये कहँता है,” इसमें margin बिल्कुल भी नहीं हैं तब भी ग्राहक मानने के लिए तैयार नहीं होता.”
अगर आपके Business पर मोल-भाव बहुत ज्यादा होता हैं और आप परेशान रहते हैं. आप चाहते हैं कि फिक्स Price वाला Business हो तो Startup में कुछ दिन थोड़ा परेशानी में गुजर सकते हैं. कई ग्राहक टुटेगें क्योकि उनकें मोल-भाव पर आप ब्रैक लगा देगें. कई नए Customer जुडे़गें भी क्योकि आप margin घटा कर काम करेगें. ऐसे में जिन्हें पसंद आता हैं वो आपके साथ हो लेते हैं और जो असतुंष्ट होते हैं वो रास्ता बदल लेते हैं.
सबसे ज्यादा बात ध्यान देने वाली यह हैं कि आपका बिजनेस किस वस्तु का हैं ? किस तरह के Market में आपका Shop हैं. भीड़-भाड़ वाले इलाके या शहर और गाँव के किस हिस्से में हैं. जहाँ आपकी Shop हैं वहाँ पर लोगों का आवागमन कैसा हैं ? जो प्रोडक्ट आप सेल करते हैं उसके बारे में कितना जानकारी हैं ? आपको Coutomer हैंडल करना आना चाहिए.
इन सभी बातों पर निर्भर करता हैं कि वस्तु का प्राइज क्या रखें ?
नोट – यह नियम हमने You tube के माध्यम से आपके लिए जुटायें हैं.

दोस्तों, मैं उम्मीद करता हूँ कि आपको यह जानकारी  जरूर पसंद आई होगी. यदि आपके मन में कोई प्रश्न या सुझाव हैं तो हमें Merajazbaamail@gmail.com पर लिख भेजिये. यदि आपके पास कोई प्रेरणादायक कहानी या कविता हैॆ जो लोगों के लिए प्रेरणा दें तो आप हमारे पास भेज सकते हैं. धन्यवाद :)

Leave a comment

Your email address will not be published.