दोस्तो ! आज की पाॅस्ट मे हम जानेगें कि What should we do job or business in hindi. हमे क्या करना चाहिए ? हमें जाॅब करना चाहिए या नौकरी ? यदि बात नौकरी करे तो सभी के मन में सरकारी नौकरी करने का विचार सबसे पहले आता है क्योकी उसमे जोखिम बहुत कम होने के साथ-साथ पैसा, रूतवा और समाज मे इज्जत होती है. हम सरकारी नौकरी को ही सब कुछ मानते है. नौकरी होती है तो लोगो में नाम होता है. अच्छे शादी सम्बंध होते है. लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है. यदि ऐसा होता तो हमारे देश में अड़ानी, अम्बानी, टाटा, बिडला ये सभी सरकारी नौकरी कर रहे होते. नौकरी से आप अपना पेट भर सकते हैं. लेकिन व्यवसाय से आप कई लोगो का पेट भर सकते हैं. इसलिए आपको अपना व्यवसाय शुरू करना चाहिए. आप सोच रहे होगें कि व्यवसाय में बहुत जोखिम है तो आज किस चीज मे जोखिम नहीं है? 

आप बिल्कुल सही सोच रहे हैं. 

चलिए बताता हूँ कैसे ? I told you that how ? 

आप पढ़ रहे है : What should we do job or business in hindi

तो सबसे पहले जान लेते है कि व्यसाय क्यो करें ? first of all Why should you do business ?

अपने व्यवसाय मैं काम करते वक्त हम बहुत कुछ सीखते हैं जो कि हम नौकरी रहते नहीं सीख पाते हैं क्योंकि नौकरी में हर समय बॉस की सुननी पड़ती है और कंपनी के हिसाब से ही काम करना होता है. आप अपनी आजादी से काम नहीं कर सकते हैं, एक प्रोटोकॉल के तहत ही काम किया जाता है.

“आप अपने जीवन के उन दाँव को 100% खो देते हैं जिन्हें आप कभी खेलते ही नहीं.”

अपने किसी भी काम में आप हमेशा चुनौतियों का सामना करेंगे. चुनौतियों में जूझते रहेंगे और इसी प्रकार उनको सुलझा कर आगे बढ़ेंगे.  दिमाग हमेशा सक्रिय रहेगा और दिमाग हमेशा किसी न किसी रचनात्मक कार्य में डूबा रहेगा. उधेड़बुन चलती ही रहेगी! 

और पढे़

जिंदगी बदलने वाले कोट्स

व्यवसायियों को नौकरी पेशेवर लोगों से ज्यादा कार्य करना होता है क्योंकि वह अत्यंत जोखिम में काम कर रहे होते हैं, जो कि किसी भी प्रकार का हो सकता है, वह समय का हो सकता है, वह किसी प्रोडक्ट या सर्विस का हो सकता है, वह अपने जीवन का हो सकता है, वह अपने पैसे का हो सकता है!

“मैं वो खेल नही खेलता जिसमे जीतना Fix हो, क्योकी जीतने का मजा तभी होता है, जब हारने का Risk हो.”

 

आप पढ़ रहे है What should we do job or business in hindi

जोखिम में काम करके ही आदमी जीवन में आगे बढ़ पाता है क्योंकि सुरक्षा केवल भ्रमित करती है. सुरक्षा जैसा जीवन में कुछ होता ही नहीं. जीवन हर पल नया संदेश लेकर आता है. जीवन पल-पल में किस प्रकार बदलता है ? 

आपको इस वाक्या से समझाना चाहूँगा.. एक क्षण में क्या होता है ?

एक पत्नी अपने पति का नदी में नहाते हुए और मस्ती करते हुए वीडियो बना रही थी और अगले ही क्षण उसके पति की पानी में ढूबने से मृत्यु हो जाती है और वह समझ ही नहीं पाती है कि यह आखिर हुआ क्या ? 

जीवन में कोई भी चीज पहले से निर्धारित नहीं की जा सकती है, केवल सटीक जोखिम प्रबंधन करते हुए ही हम जीवन में आगे बढ़ सकते हैं.

यदि कोई कह दे कि सड़क पर मत जाओ दुर्घटना हो जाएगी तो क्या सड़क पर निकलना बंद कर देंगे?

जो पहले कभी गेराज में शुरू हुई छोटी कंपनियां होती थी वह आज बड़ी-बड़ी कंपनियां किस प्रकार बनी है?

पिछले कुछ दशकों से नौकरियों का चलन प्रारंभ हुआ है, लेकिन पहले नौकरी नहीं होती थी.

किसान हो या व्यापारी सभी entrepreneur ही तो हैं, क्योंकि कल का कुछ नहीं पता. आज में जीते हैं और इसी प्रकार जीवन में आगे बढ़ते हैं.

“प्रगति के लिए जोखिम उठाना भी आवश्यक है जिसके लिए बुद्धी से अधिक साहस की आवश्यकता होती है क्योकी बिना जोखिम के लाभ प्राप्त नहीं हो सकता.”

ऐसा नौकरियों में सिखाया जाता है कि आप जीवन में सुरक्षित रहेंगे लेकिन क्या लोगों की नौकरियां सुरक्षित रहती हैं? अगर ऐसा है तो सभी नौकरियों में प्रसन्न एवं संतुष्ट क्यों नहीं है? नौकरियों में काम करते हुए लोग Passive income के विषय में क्यों सोचते हैं? अगर नौकरियां इतनी अच्छी हैं तो लोग घर बैठे Business आदि क्यों करना चाहते हैं? कुछ लोग तो अपने घर से ही painting आदि की प्रदर्शनी लगाते हैं तो वह आखिर क्यों करते हैं

निवेश और रचनात्मकता का संगम सिद्धांत

आप पढ़ रहे है What should we do job or business in hindi

अब करते हैं कि हम नौकरी क्यों करते है Now let’s talk about why do we do jobs ?

नौकरी एक ऐसा आजिविका चलाने का साधन हैं जिसमे हमारी Value कोई और तय करता हैं. नौकरी हमे अदृश्य सीमाओ में बाधंने की कला है जो हमे एक Path बनाकर देती है और यह समझाने में कामयाब होती है कि तुम को नौकरी क्यो करनी है. चाहे नौकरी कोई सी हो पर नौकरी होनी चाहिए. ज्यादातर लोग सरकारी नौकरी करना चाहते हैं. सरकारी नौकरी मिलना पहले तो आसान बात है ही नहीं. फिर आजकल कोटा इतना है कि कब आपका नंबर आएगा कुछ नहीं पता. जोखिम इसमें भी पूरा है.  मेरे कई साथ के लोग जिन्होंने सरकारी नौकरियों की तैयारी शुरू की थी वह आज कोचिंग इंस्टीट्यूट में पढ़ा रहे हैं. काम उनका भी अच्छा है लेकिन कहीं न कहीं उनको मन में लगता है कि उनके सपने पूरे नहीं हो पाए हैं.

देखा जाए तो हम जीवन की इस भागदौड़ में सभी Entrepreneur है लेकिन हमेशा महसूस करते हैं कि नौकरी सुरक्षित है.

ऊपर दिए गए विचार मेरे अपने हैं. जो लोग नौकरी कर रहे हैं कृपया ऐसा मत सोचिए कि मैं उनकी खिल्ली उड़ा रहा हूं या मैं ऐसा कह रहा हूं कि आप नौकरी न करें. मेरा केवल इतना कहना है कि यह सोचकर मत निकलें कि आपका भविष्य सुरक्षित ही है क्योंकि जीवन में सुरक्षित कुछ होता ही नहीं है. आपको जीवन में साहसी होना पड़ता है, हर क्षण अलग होता है, जोखिम तो होगा ही लेकिन उसका प्रबंधन करना आवश्यक है!

“आये हो निभाने को जब किरदार ज़मीं पर, कुछ ऐसा कर चलो कि ज़माना मिसाल दें.”

अब तो आप समझ ही गये होगें What should we do job or business में से क्या करना चाहिए ?

हर व्यक्ति को शुरू में ही बिजनेस की समझ नहीं होती. लेकिन कोई व्यक्ति माँ के पेट से सीखकर नहीं आता. हर कोई अनुभव से ही सीखता हैं. बस आपको काम करना है और उसका अनुभव करके कमियो को दूर करके निरंतर आगे बढ़ना हैं.

व्यापारी तो यह जानते ही हैं कि व्यवसाय में कोई सीमा नहीं है. आप कितना भी पैसा बना सकते हैं और एक गलत झटके में पैसा गंवा भी सकते हैं.

व्यवसाय करने के लिए मज़बूत इरादे (nerves of steel) चाहिए क्योंकि कब क्या होगा किसी को नहीं पता.

आमतौर पर जो लोग बसे बासाएं व्यापारियों के घर में जन्म लेते हैं वे इस व्यावहारिक जोखिम को नहीं समझ पाते हैं क्योंकि उन्होंने काफी समृद्ध जीवन जिया होता है.

जो लोग बहुत गरीबी एवं संघर्ष से उठते हैं वही जीवन की कठिनाइयों को गंभीरता से समझ पाते हैं और जीवन में बहुत कुछ छोड़कर आगे बढ़ पाते हैं. उनके जीवन में अत्यंत संघर्ष तो होता ही है लेकिन उनका Jazbaa देखने लायक होता है. कोई भी व्यक्ति उनसे इतना कुछ सीख सकता है कि उसकी कोई सीमा ही नहीं है.

मुझे लगता है कि आजकल की Genration जोखिम लेना ही नहीं चाहती है और जो लोग जोखिम लेना चाहते हैं वह पूर्णतः जोखिम का अर्थ समझते नहीं हैं.

फिर भी हमारा प्रयास रहता है कि नई Genration से एवं कॉलेज में पढ़ रहे विद्यार्थियों से बात करें, उनसे मिलें, उनसे start up के विषय में बातचीत करें, उनके Idea एवं नवाचार को समझें, उनसे प्रेरित हो और कुछ उन्हें भी प्रेरणा दें. अपने जीवन की कठिनाइयों एवं संघर्षों को समझाकर, उन्हें हमेशा धैर्य और हिम्मत रखने की सलाह दे सकें.

 

“आँखो में नीद की जगह सपने बसना शुरू हो गये है तो Entrepreneur हो तुम.”

मुझे अपनी कुछ पक्तियाँ याद आ रही है. उम्मीद करता हूँ कि आप भी इन पक्तियों को अपने जीवन में महसूस करते होगे :-

 मुसीबतो से मैं टूटा नहीं,

अपनो से कभी रूठा नहीं.

आंधियों से घबराया नहीं,

था सब कुछ मगर जताया नहीं.

मेरी परेशानियों का जिक्र,

मुझसे मेरे हालात करते हैं.

ये दूसरों को कभी बताया नहीं.

मैं किसी से जलता नहीं, 

ये तो मेर अंदर का जज्बा है 

जो मुझे जला के रखता हैं.

लोग कहंते हैं तेरा अधेरा छटेगा नहीं,

मैं कहँता हूँ जरा धैर्य रखों,

मेरे हिस्से का सूरज अभी आया नहीं.”

 

दोस्तो ! हम जानना चाहेगें कि आपको What should we do job or business in hindi कैसी लगी ? मैं उम्मीद करता हूँ, आपको पाँस्ट पसंद आई होगी. आप ऐसे ही अपने प्यारे संदेश कमेंट बाँक्स के जरिये हमें भेजते रहें. आप अपने बड़ो का ख्याल रखें. आस-पास साफ सफाई रखें. जानवरो को प्यार करें. जीवन में नैतिकता को बनाये रखें. क्योकी यही जीवन का आधार है. यदि आपके पास कोई प्रेरणादायक कहानी, कविता, लेख है तो आप हमारी मेल आई डी Merajazbaamail@gmail.Com पर भेज सकते हैं. हमसे जुड़े रहने के लिए आपका तहेदिल से शुक्रियाँ.

                                                           Thanks !!

                                                    Vivek pathak 

Leave a comment

Your email address will not be published.