Dunzo online delivery startup story in hindi
दोस्तों, आज की पाॅस्ट Dunzo online delivery startup story in hindi है. आपने कई सारे startup पढ़े और सुने होगें. लेकिन आज हम ऐसे startup के बारे में बात करेगें जिसकी शुरूआत whats app से हुई. ज्यादातर लोग whats app को chating के लिए इस्तेमाल में लेते है. लेकिन एक व्यक्ति ने social app को ही अपना Business हथियार के तौर पर इस्तेमाल किया और 210 करोड़ की कम्पनी खड़ी कर दी. जिसे आज लोग Dunzo के नाम से जानते है. तो चलिये शुरू करते है Dunzo startup story in hindi में.

What is Dunzo app डंजो एप क्या है ?  

Dunzo एक Hyper local delivery app है. जिसका Head office बेंगलुरू है. अभी कम्पनी की Service बैंगलुरू, हैदराबाद, पुणे, दिल्ली, गुरूग्राम शहरो में मौजूद है. इस App के जरिये Dunzo पहली ऐसी कम्पनी है जिसमें Google ने डायरेक्ट Invest किया है.
Dunzo एक Delivery app है जिसके द्वारा आप कोई भी घरेलू चीज मगवा सकते है. जैसे Food, Grocery, Frouts, vegitables आदि कोई Specific वस्तु को आप तक पहुँचाने का काम करती है. आप अपने घर पर चाँबी, चार्जर भूल गये हो तो आप इस app के जरियें मंगा सकते है. ये आपको pic & drop करके दे देगें. अगर आपको photocopy या printout चाहिए तो यह काम भी Dunzo करके दे देगी.
और पढ़ेCause of prevention of depression
ज्यादातर app किसी एक particular चीज पर काम करते हैं लेकिन Dunzo app आपके लिए एक packet का भी order deliver करके देता है. पहले यह किसी भी order को आप तक पहुँचाने में 60 मिनट का समय लेते थे लेकिन अपने काम में तेजी लाते हुए इन्होने order deliver करने में 30 मिनट कम किये है. मतलब आपको आधे घण्टे में आपको आपका सामान मिल जायेगा.
यह बहुत ही तारीफ की बात है. जितना हमें पढने और सुनने में आसान लगता है उससे कही ज्यादा Dunzo को target पूरा करने में कड़ी मेहनत का सामना करना पड़ता है.
आप पढ़ रहे हैं: Dunzo online delivery startup story in hindi
Dunzo online delivery startup story in hindi
Dunzo कम्पनी की शुरूआत कैसे हुई ?
“कबीर विश्वास” कम्पनी के CEO & Co founder हैं. कबीर विश्वास ने कम्प्यूटर साइंस से इंजीनियंरिग की है. कबीर अपने पापा के business में साहयता कर रहे थे. उन्होने MBA complite की. उसके बाद Airtel के Salse & coustmer dipartment में job किया. उसके बाद उन्हे लगा कि अपना कुछ करना चाहिए और अपना Startup hopper शुरू किया लेकिन बाद में Hyic ने खरीद लिया. उसके बाद वह बैंगलुरू shift होकर सोचने लगे कि अब क्या करना चाहिए ?
Dunzo कम्पनी का idea तब आया जब वह गुरूग्राम में रह रहे थे. उस समय कई ऐसे काम होते थे जिनको करना जरूरी होता था लेकिन उनका मन नहीं करता था. इसके लिए वह to do list बनाते थे. फिर weekend के अंत में सारा सामान घर-घर जाकर पहुँचाते. इस काम को कबीर हर week करते थे. जिसमे बहुत सारा समय लगता था जिससे उन्हे काफी frustration हो जाती थी.
कबीर को बार बार दिमाक में आता कि वो सिर्फ to do list बनाये और कोई दूसरी कम्पनी उनका यह काम कर दे.
अब कबीर के पास इतने पैसे नहीं थे कि वो ऐसी कोई app या website बनवाये. उन्होने इस idea को impliment करने के लिए एक whats app group बनाया. जिसमे उन्होने लोगो को बोला कि वो इस ग्रुप में add होकर उन्हे काम का task दें जिसे वो पूरा कर सकें. इसके बाद कई महिनो तक कबीर लोगों के task दिन-रात लगकर पूरा करते रहे और चीजो को समझने की कोशिश करते रहें.
आप पढ़ रहें हैं: Dunzo online delivery startup story in hindi
ज्यादातर लोग बहुत बड़ा खर्चा करने के बाद अपनी market बनाते हैं लेकिन कबीर का मानना है कि हम वह चीजें क्यो बनाये जिसकी कोई dimand ही न हो.
धीरे धीरे कबीर के पास ढे़र सारे order आने लगे. वह सुबह के चार बजे उठते और रात के दो बजे तक लोगों के order complite करते. इसके बाद भी उन्हे freelancer की मदद से task को पूरा करना पड़ता. ऐसा उन्होने पूरा एक साल तक किया.
बैंगलुरू में अधिक trafic होने की वजह से लोग कबीर की service लेना ज्यादा बेहतर समझते. मजेदार बात यह है कि कबीर के invester “The blus banch” पहले से इनकी service ले रहे थे. जो उन्हें  बहुत पसंद थी.
कबीर अपना product test ही कर रहे थे कि उन्हे early invester भी मिल गये. कबीर ने deside किया कि अब इस काम को business में convert करना चाहिए. तब कबीर को “मुकुंद और अंकुर” मिले. जो similar type का app चला रहे थे. तब सबने मिलकर सोचा कि क्यो न हम सब मिलकर एक ऐसा app बनायें जो तीनो के goal को पूरा करे. क्योकि अंकुर और मुकंद का text side बहुत ही strong था जबकि कबीर का marketing opretion side बहुत strong था. इसके बाद इनके चौथे co founder दलबीर इनके hoper के द्वारा मिले.
कबीर ने science engineering के बाद MBA किया फिर Job की. एक Startup भी चलाया उसके बावजूद एक साल तक लोगो के लिए delivery का काम किया. कबीर चाहते तो एक अच्छी salary की job भी कर सकते थे लेकिन वो Job ही करते तो आज इतना अच्छा succesful startup नहीं चला रहे होते. क्योकी उन्होने वास्तविक struggle किया.
life में struggle करना बहुत जरूरी है. बिना मेहनत के हम सफलता का अहसास नहीं कर सकते. फिर चाहे आपके हालात कितने ही अच्छे या बुरे क्यो न हो. Startup को मुकाम तक पहुँचाने के लिए दिन रात एक करना ही पड़ता है.
लोगो की शिकायत होती है कि उनके पास पैसे नही है या फिर बहुत बड़ी team नहीं है. उन्हे funding  चाहिए.  जिनके पास जुनुन होता है वो पहले मैदान में उतरते है फिर कांरवा गुजरता चला जाता है. आपको पहले खुद market मे उतर के idea test करना पड़ेगा. जैसे: कबीर ने खुद market में उतर के काम शुरू किया. उसके बाद उन्होने अपने दोस्तो के साथ मिलकर जुलाई 2015 में एक app lounch किया.
धीरे धीरे Dunzo grow होने के साथ बेंगलुरू के दूसरे पार्ट में भी expend करने लगा. क्योकि customer को उनकी service पसंद आ रही थी. इसलिए एक बार जो Dunzo की service ले लेते वो atract होने के साथ ही अपने दोस्तो को भी literally recommend करते थे.
इसलिए marketing में न के बराबर खर्चा होता था. क्योकी mostly Dunzo “word of mouth” ही marking होता था.
आप ये तो जानते ही है कि word of mouth market की सबसे one of the best marketing में से एक है. क्योकी इसमे आपके एक भी पैसे नहीं लगते. बिल्कुल organic way है और जब आपका कोई close friend या जानने वाला product को recommend करता है तो बहुत ज्यादा chance होते है कि आप उसे try करे.
Dunzo Customer Experience 
Dunzo की service 24/7 3 site open रहती हैं. महत्वपूर्ण बात यह है कि Dunzo का customer experience और service अच्छा इसलिए है क्योकी पूरा supply chain को कबीर खुद ही manage करते हैं. कबीर का काम के प्रति प्यार होना ही ग्राहक को value प्रदान करता है. इससे लोगो का विश्वास बढ़ता है. यदि आप ग्राहक है तो order को आसानी के साथ app से कर सकते है. इसके साथ ही payment भी उसी app के जरिये आसानी से हो जाता हैं.
गूगल द्वारा Dunzo में funding 
उस time hyper local startup मे कई मिलियन डाँलर invest किये हुए थे और तब ये सारे Startup डूब गये थे इसलिए कबीर को इतना अच्छा responce के बाद भी investment नहीं मिला और ऐसा एक बार नही 80 से ज्यादा बार funding के लिए कबीर को मना कर दिया गया.
कुछ छोटे छोटे vertical startup के acquisition vision offers भी आये पर कबीर का vision Dunzo को काफी बड़ा करने का था. इसलिए उन्होने acquisition (अधिग्रहण) offers accept नहीं किये. इसके बाद 2017 में google ने Dunzo की series b part मेंं round लिया और करीब 12.3 मिलियन डाँलर का investment किया.
google ने इसलिए Invest किया क्योकी वो अच्छे product में believe करता हैं.
Dunzo काफी अच्छा product है और वो भी google की map service use में लेते हैं. इसलिए Google को बहुत potential लगा. क्योकी Dunzo hyper local delivery business में हर एक बडे बडे vertical invester ने अपने पैसे लगाये हुए थे. जैसे Zomato में Alibaba ने लगाये हुए हैं. इसी क्रम में google ने Dunzo में Investment की.
इसके साथ ही Dunzo और भी नई नई series में काम कर रहा हैं. हो सकता है आने वाले समय में आप भी Dunzo की सर्विस का लाभ उठा पाये. यदि आपने Dunzo की सर्विस ली है तो आप अपना experience जरूर Share करें.
Dunzo delivery job 
Dunzo मे दो प्रकार की delivery job available हैं. 
1- only delivery
2- delivery + bike taxi
बात काम की जाये तो आपको काम को लेकर कोई Problem नहीं होने वाली. आपको काम कोई न कोई मिलता रहेगा.
कौन से items आप deliver कर सकते है ?
Restaurant
Medicines
Grocery
Gift Items
Parcel Delivery 
आप पढ़ रहें हैं: Dunzo online delivery startup story in hindi
उसके बाद आप bike सवारी delivery का काम भी कर सकते है. यहाॅ काम करने के लिए qualification मायने नही रखती. बस आपकी उम्र 18 साल पूरी होनी चाहिए. तभी आप apply कर सकते है.
इसके बाद आपके पास आधार कार्ड, पेन कार्ड, बैंक की पास बुक तथा बाइक का ड्राइविग लाइसेंस आदि documents होने चाहिए.
इसके बाद आपके पास एक Android mobile phone होना चाहिए. जिसमें 4G internet चलता हो.
आपको 1100/- Rs. joining fee जमा करनी होगी. Fee जमा होने के बाद आपको एक Dunzo bag, 2 T-shirt, I card दिया जायेगा.
आप यहाँ better incentive, joining bonus, referral bonus आदि Salary के रूप में मिलेगा.
आपको यहाँ किसी भी एक शिफ्ट में 8 घण्टे Mobile में log in रहना होगा. प्रतिदिन के हिसाब से लगभग 1400 रूपये इससे कम या ज्यादा भी कमा सकते है. यह Area & Location पर निर्भर करता है.
Dunzo की service 24/7 days चालू रहती है. आप कभी भी इन्हे Order दे सकते हैं.
तो दोस्तों, उम्मीद करता हूँ कि आपको Dunzo online delivery startup story in hindi अच्छी लगी होगी. यदि आपके मन में कोई सवाल है तो आप Comment या E mail के माध्यम से पूँछ सकते हैं. हमारा मेल Id merajazbaamail@gmail.com हैं. आपके पास कोई artical है जिससे लोगो का भला हो सके तो आप हमारे साथ साझा कर सकते है.
                                                           Thanks! 😊

Join the Conversation

1 Comment

Leave a comment

Your email address will not be published.