दोस्तों, आप सभी को Merajazbaa.Com की तरफ से होली की हार्दिक शुभकामनाएं.
होली का पर्व पूरा देश बड़ी धूम-धाम से मना रहा हैं, इसकी वजह सीमा पर तैनात हमारें वीर जवान हैं.
इस बार 14/2/2019 को पुलवामा में हुए कायराना पूर्ण  आतंकी हमलें से हमारे देश के वीर जवान शहीद हो गयें.
जब जवानों की यादें उन सारी चीजों से जीवित हो उठती होगी जिनसें वे जुडे़ थे. तब आप कल्पना कीजिएं उन परिवारों पर क्या बीतती होगी ? सबमरीन नेवी जवान तो तीन-तीन महिनों तक घर पर बिना कोई सदेंश दिये ड्यूटि पर तैनात रहतें हैं. ऐसा इसलिए नहीं कि उन्हें इसकी तनख्वा मिलती हैं बल्कि वो अपने देश से प्यार करतें हैं.
MJC का सभी पाठको से अनुरोध हैं कि हम इस बार की होली में जवानों की सहादत को न भूलें.
जब घर का बेटा देश सेवा में लगा हो और साल भर का त्यौहार होली मनानें की बात की जायें तो एक माँ, पत्नी और पिता की क्या भावनाएं हो सकती हैं …वो मैनें गीत के माध्यम से पक्तियों में लिखनें की कोशिश की हैं.

2019 की 

होली देश वीर जवानों

के नाम…

पत्नी के सन्दर्भ में चार पक्तियाँ….
         रंग धरे हैं रंग-बिरंगे याद तुम्हारी में ।
सूनी अखियाँ ढूड़ रहीं हैं होली की पिचकारी में ।।
        इक रंग भरा तुमने माँग मेरी सिदूंरी ,
इस रंग को मैं ऐसे भरती जैसे दौड़ भरे मृग कस्तूरी ।
       सारे रंग रंगडाले कोई रंग न चढ़ पाया,
बस एक हिना का रंग चढ़ा जो अब तक न छूट पाया ।
आजाओं बेरंग हैं सारी खुशियाँ त्यौहारी में ।।
रंग धरे हैं रंग-बिरंगे ……
माँ के सन्दर्भ में चार पक्तियाँ….
काले रंग को देख के माँ की आँखो में पानी भर आया,
ये वो रंग हैं जिसने तुझको काली नज़र से बचाया ।
    तू सपनों मे आकें ऐसे दिलासा दें जाता हैं,
   जैसे सध्या का दिपक जलके बुझ जाता हैं ।
मेरा दिपक तो तू हैं इस जीवन की अधियारी में ।।
रंग धरे हैं रंग-बिरंगे….
पिता के सन्दर्भ में चार पक्तियाँ…..
भाव पिता के निस-दिन चढ़ते और उतरते हैं ,
कुछ ख्वाबों के खंजर मन को रोज कतरते हैं । ।
कन्धा देने वाले को खुद ही सुपर्द-ए-खाक किया,
जिस मिट्टी को रूप दिया, उसको ही राख किया ।।
नागफनियाँ उग आई हैं घर के गमलों की फुलवारी में
रंग धरे हैं रंग-बिरंगे याद तुम्हारी में ,
सूनी अँखियां ढूड़ रहीं हैं होली की पिचकारी में ।
आपको हमारी पाँस्ट कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बतायें.
अगर आपके पास कोई प्रेरणादायक ले या कहानी हैं तो हमारी मेल आई डी Merajazbaamail@gmail.com पर लिख भेजिएं. हमें आपके सुझावों का इतंजार रहेगा.
अगर आप चाहते हैं, कि कोई भी नई पाँस्ट पब्लिश होने की सूचना आपको मिलें तो हमारी बेवसाइट को Subscribe जरूर कर लें.

Leave a comment

Your email address will not be published.