‘शालीन’ और ‘तेखू’ दोनो दोस्त थे | दोनों एक ही स्कूल में पढ़ते थे |  मगर दोनों की सोच तथा काम करने का तरीका एक...